Essay On Garmi Da Mausam Secaucus

184

1150 Paterson Plank Rd
Secaucus, NJ07094
(201) 869-3663

My and I visited Mausam in Secaucus on Friday. We wanted to eat dinner before heading overt to Kerasotes to watch a movie. The locale has plenty parking, its own lot and street. The decor is nicely done, smooth color tones and suave ambiance. The food is superbly delicious. We had Calamari for appetizer. For entree we had Aloo Gobi, Goat Curry, Jeera Rice with Garlic Naan. The service was friendly and exceptional. Our server this evening was Trusha, she catered to all our needs. We came back today Saturday, for a lunch buffet and another movie at Kerasotes theater. The buffet was varied and very inexpensive. Our server for buffet was Deep (there was a wedding at the banquet hall and Trusha was attending it). Deep was cordial and wonderful. We will try to come here as often as we can.

Where do I begin... My friends and I stopped at this food joint for buffet lunch. In any typical Indian restaurant the buffet is the crowd puller, the first warning sign which we ignored (I) empty parking lot which meant the place is not at all crowded. Brave hearts as we marched on seeing this an an opportunity, the menu was very limited. Aloo tikki - ok ok Veg rolls - veg masala rolled up in Naan bread Dhal and rice - didn't touch this so can't comment Paneer and channa - paneer was more of a mixed veg curry with carrot and broccoli. Never had this kind of paneer gravy in my life till now and I'm sure I don't want to have this kind of gravy henceforth. My friends had channa masala and didn't recommend me. Chicken tikka masala - a creamy chicken orangish gravy with chicken cubes. That's how it was, I was able to taste all masala items individually. Chicken vindaloo - layer 1 shredded coconut, layer 2 mixture and layer chicken and potato gravy. Chicken tandoori - chicken chewing gum Goat kadai - goat and pepper gravy. This was the second best dish we had at this place. Carrot halwa - 3/4th cooked carrot and undercooked halwa. The mixture of carrot juice and milk was all over the place. I agree there has to be a level of moisture in carrot halwa. Masala chai - not good. Vegetable Biryani - a sweet main dish, that right. It was sweet! Naan served at the table. This was by far the best thing that was served at this restaurant. We collectively had a very bad experience and I would never recommend this place to anyone. P.S : A single star is not by choice but yelp doesn't allow users to post review without star rating.

Cleanliness: 0/4. Had to ask for a new glass because the one i was given had fingerprints and lip marks on it. There were flies everywhere and a faint odor of a urinal. Service: 0/4. Slow and inattentive. We didn't order appetizers and went straight for entrees because we were in a bit of a rush but still our food took over 30 minutes to arrive. We ordered additional naan, which I'm pretty sure the guy forgot about because, after 15 minutes he still did not serve it. So, 30 minutes after we ordered the naan, we still haven't gotten it. I walk up to the head waitress and let her know how long it's been and then someone finally comes out of the kitchen with lukewarm bread. Food quality: 2.5/4. Food was the only decent part about this horrible experience but it was ruined by having to wait 30 minutes for naan, which made our food cold as hell. Mausam is probably good for catering, but they should consider closing down the sit-down portion of their business because it was really terrible service.

This is my first time to Mausam. Ordered Gobi Manchurian and Paneer Tikka Masala. Both these dishes turned out very poorly in terms of flavor and quality. Lot of Food coloring was added to both these dishes making them inedible, causing an upset stomach the following day. Will never go back and never would recommend to anyone !!!

Ordered pickup up from Mausam for the first time yesterday after deciding to have Indian food for lunch. - Food: I decided to get the Palak Paneer entree, which also came with jasmine rice. It was a hearty portion, I was able to have half for lunch and saved the other half for the following day. While the food wasn't bad, honestly not the best Indian/ Punjabi food that I've had, and frankly fell well below my expectations. I was also able to sample their Cauliflower 65 dish, which was tasty and I enjoyed. - Service: The service was really great when I went to pick up my order. My food still wasn't ready when I arrived, so I spoke to a staff member who was friendly and allowed me to try some of the items from the lunch buffet, which was very generous of them. Another staff member came over while I was looking at the buffet items and recommended items, I had another nice conversation with her as well. In general, the service was really good, but the food was lackluster but not bad. I haven't tried the two other Indian restaurants in the vicinity, but think I might check those out before returning to Mausam.

I've never been to Mausam, but based on the reviews on Yelp, I thought I'd reach out to them for planning an event at their banquet hall. I left 2 messages for Trusha only to get a call back (might I note, she called me on the wrong number despite me leaving 2 messages w/ a call back #) and be faced with a major attitude! Did not introduce herself until I asked who was calling and even then sounded like she was already over the conversation. Nevertheless, I proceeded to inquire about the space/pricing details and I continued to be faced with an attitude. It was almost like she didn't want the business. The cherry on top - I'm in the midst of asking her questions and she rushes me off. I've called countless venues similar to Mausam in the past few days and had only dealt with some of the most patient, thorough, and accommodating individuals. First time speaking to a Banquet/Sales manager that sounded like she didn't give a damn and felt her time is too precious to be dealing with a potential client. Mausam must be doing GREAT if they don't need any additional business. Shame. Never engaging them again...thanks to this Trusha Trivedi...for an event or otherwise.

We ordered for home delivery and delivery service itself was pathetic, my order got delivered 45 minutes later than expected. And when we started eating the stuff, "Haryali Paneer Tikka" was having rotten paneer, it was literally hard to break and when we break it open, we could see a clear brownish hard turned paneer. Sorry to say, but done with this place!

Average food, average people and an average ambience. Nothing special about it but nothing bad as well. Once in a blue moon you can go and eat some decent indian buffet lunch. Thats all. Well, isnt it the case with 99.99% of Indin Restaurants in the USA anyway?

Food is decent but delivery service is pretty aweful. I use them for convenience but they seldom get the order right. Items of food missing or no cutlery are common. I am a business traveler and usually don't have access to plates or cutlery so it's pretty annoying if the order isn't delivered right It isn't fun to get an entry and no bread or rice to eat it with Clean up you act guys!

Called and placed an order with them to be delivered, they told me an hour. 1.5hrs later I call to see where my food is and they tell me that they don't have a delivery boy, my food has been ready for 45 minutes and that once someone comes in to take my food they'll deliver it. I wanted my money refunded and to cancel my order, they told me to "f**k off" I'm sure I will not be ordering from here again

This review is not about the food. We've ordered from them in the past and the food was fine (not amazing but fine). This review is about their service. We ordered through Seamless and after an hour we called the restaurant to check on the status of our order and no one picked up. We then called Seamless and they couldn't get in touch with them either. After 2hrs we cancelled the order. Unacceptable. Never again.

This is huge place - lots of seating area. Food was ok nothing too amazing. The customer service was excellent though. I ordered the Gobi Manchuria which did not taste like manchurian. It tasted weird - the person taking care of my table was attentive to it and also offered me a replacement. When I said it was ok they also removed the charge which is very nice. Paneer tikka masala was spectacular. Biryani was decent I felt that the chicken pieces were not well done as typically found in a biryani. But it did taste good. Food - 3 stars Customer service - 5 stars keep it up.

Tandoori chicken had food coloring and no flavor. Other food was stale. disappointing lunch.

Lunch Buffet Only! Lunch buffet either on a week day or week end is awesome, no complaints. It usually comes with naan, I always request garlic naan with butter (ghee). Tandoori chicken is great, paneer is on point and even the vegetable curries are really good, sometimes they will have either lamb or goat and those days are the best! Groupon always has deals so buy buy buy!!! I frequent this indian buffet at least once a month with friends and family, never disappoints.

Worst Chk tikka masala and malai kofta I have ever had, should have stuck to Dhoom down the road, even the free rice was half cooked, never again, I must say that server was Excellent

This is my go to restaurant to order delivery when I'm craving Indian food! Pricing- I would say it's about average compared to other Indian restaurants I've ate at or ordered from. Entrees are typically $15.00 with more exotic ones being more expensive. Portions- I particularly love their butter chicken and their chicken tikka masala. The portions are enough for me to get two meals out of it which makes it worth it to me. It comes with a good helping of jasmine rice and if you order one naan you use half and half for each meal, you're stuffed by the end of it. The food itself is generous and delicious. I've had their tandoori chicken which is delicious and perfectly spicy. Their chicken tikka masala is fantastic and has a lot of that good sauce to sop up with your rice and naan, the same with the butter chicken if you want a more simple flavor profile (but still just as amazing). Both dishes amount of chicken is generous and cooked well. They also offer different spicy levels so you're not smacked in the face with a heat cannon unexpectedly. The gulab jamun are out of this world! (Guilty pleasure: I love to straight up drink the syrup when I'm done.) Delivery times are always accurate and prompt and the delivery men are super friendly and courteous. Food is always hot and fresh. The restaurant even gives you plates and good cutlery to use (none of that flimsy stuff here!). I would recommend this restaurant to anyone looking for a good delivery Indian food. I would love to get to the restaurant and experience the atmosphere soon!

Went there on a weekend for lunch. The ambiance is plain and casual. The place was not well maintained and not very clean. Since we had heard so much about this place, we decided to give it a try anyways. We ordered few different items, fish, lamb, chicken , dal. I asked for spicy fish and the fish curry was sweet and the fish was slighty on the raw end. The only good thing in our entire order was the bread basket. My husband could not eat the lamb as it was overcooked.

Visiting here from bay area.Ordered dal makhani and malai kofta with onion kulcha and lachha parantha. Food was very tasty. I have never had this kind of flavor back at home. I would recommend to try out this place.

Try another indian resturant. They let the food run out on the buffet..and never restocked it. Despite coming in as new customers and others come in at the same time. I even told them to restock it and they never did.

Everywhere I go, I always try to find the best local Indian restaurant. So far, this is by far my favorite in New Jersey. I went for the Sunday lunch buffet today - the food was spectacular! Even some dishes that I expected to be deathly hot/spicy were reasonably spiced and fantastic. The garlic naan is the best I've ever had. The chicken tikka masala was exquisite. The kheer was stupendous. On top of great food, the service was outstanding. My server, Lakshita, was very attentive and friendly. She even showed me the proper way to prepare and eat Pani Puri (without me even asking) - something I've never known how to eat properly despite the hundreds of Indian restaurants I've visited. Lakshita made my visit to Mausum very pleasurable. Mausum is a must-visit if you like Indian food!

गर्मी वर्ष का सबसे गर्म मौसम होता है हालांकि, बच्चों के लिए बहुत ही रुचिपूर्ण और मनोरंजक मौसम है क्योंकि, उन्हें तैराकी करने, पहाड़ी क्षेत्रों में जाने, आइस-क्रीम खाने, लस्सी पीने, पसंदीदा फल खाने आदि का मौका मिलता है। वे गर्मी के मौसम में स्कूल की छुट्टियों का आनंद लेते हैं। यह चार शीतोष्ण ऋतुओं में से एक है, जो वंसत और पतझड़ के बीच में आता है। हम यहाँ विद्यार्थियों की मदद करने के उद्देश्य से गर्मी के मौसम पर कुछ निबंध उपलब्ध करा रहे हैं, जो उन्हें उनके शिक्षकों के द्वारा गृहकार्य के रुप में पैराग्राफ या निबंध लिखने के लिए दिए जाते हैं। आप यहाँ दिए गए किसी पैराग्राफ या निबंधों में से कोई भी गर्मी के मौसम पर निबंध को अपनी जरुरत और आवश्यकता के अनुसार चुन सकते हो।

ग्रीष्म ऋतु पर निबंध (समर सीजन एस्से)

You can get below some essays on Summer Season in Hindi language for students in 100, 150, 200, 250, 300, and 400 words.

गर्मी के मौसम पर निबंध या ग्रीष्म ऋतु पर निबंध 1 (100 शब्द)

गर्मी लम्बें दिनों और छोटी रातों को रखने वाला सबसे गर्म मौसम होता है। यह साल के अन्य मौसमों की तुलना में सबसे लम्बा मौसम होता है। ग्रीष्म संक्रांति के दौरान, दिन बड़े होते हैं और रात छोटी। ग्रीष्म ऋतु आमतौर पर, होली (मार्च के महीने) के बाद शुरु हो जाती है और जून के महीने में खत्म होती है। जैसे-जैसे दिन लम्बा होता है, ग्रीष्म ऋतु का तापमान अपने शिखर पर होता है: हालांकि, जैसे-जैसे दिन घटता है, गर्मी का तापमान धीरे-धीरे कम होता जाता है। जब उत्तरी ध्रुव पर गर्मी होती है, तो दक्षिणी ध्रुव पर सर्दी होती है।

इस ऋतु में मौसम बहुत रूखा होता है हालांकि, उच्च तापमान होने के कारण, पूरे मौसम के दौरान गर्म हवाएं चलती है, जो हमारे लिए असहनीय होती है।

गर्मी के मौसम पर निबंध या ग्रीष्म ऋतु पर निबंध 2 (150 शब्द)

गर्मी का मौसम मार्च, अप्रैल, मई और जून के महीनों में रहता है। यह साल का सबसे गर्म मौसम होता है, क्योंकि तापमान अपने उच्च शिखर पर पहुँचता है। इस ऋतु के दौरान, दिन लम्बे और गर्म होते हैं, वहीं रातें छोटी है। दिन के बीच में, सूर्य की किरणें बहुत गर्म होती है। पूरे दिनभर गर्म हवाएं चलती रहती है, जो चारों तरफ के वातावरण को रूखा और शुष्क बनाती है। ग्रीष्म ऋतु की ऊँचाई पर, छोटी धाराएं, कुएं, और तालाबें सूख जाती हैं। ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोग पानी की कमी, उच्च तापमान, सूखे आदि बहुत सी परेशानियों से बिजली और अन्य आरामदायक संसाधनों की कमी के कारण जूझते हैं।

उच्च तपमान के बावजूद, गरमी के मौसम में लोग; आम, खीरा, ककड़ी, लीची, कटहल, खरबूजा, तरबूजा जैसे आदि फलों और सब्जियों को खाने का आनंद लेते हैं। शहरी क्षेत्रों में लोग इस मौसम में गरमी से निजात पाने के लिए बहुत सी गतिविधियों में शामिल होते हैं; जैसे- तैराकी, पहाड़ी क्षेत्र पर घूमने के लिए जाना आदि।

गर्मी के मौसम पर निबंध या ग्रीष्म ऋतु पर निबंध 3 (200 शब्द)

ग्रीष्म ऋतु साल का सबसे गर्म मौसम होता है, जो पूरे दिन भर में बाहर जाने को लगभग असंभव बनाता है। लोग आमतौर पर, बाजार देर शाम या रात में जाते हैं। बहुत से लोग गर्मियों में सुबह को इसके ठंडे प्रभाव के कारण टहलने का आनंद लेते हैं। धूल से भरी हुई, शुष्क और गर्म हवा पूरे दिनभर चलती रहती है। कभी-कभी लोग अधिक गरमी के कारण हीट-स्ट्रोक, डीहाइड्रेशन (पानी की कमी), डायरिया, हैजा, और अन्य स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से प्रभावित होते हैं। यहाँ कुछ बिन्दु दिए गए है, जिनका हमें गर्मियों के दौरान पालन करना चाहिए:

  • यह बहुत धूप वाला मौसम होता है।
  • हमें आरामदायक सूती कपड़े पहनने चाहिए।
  • हमें गर्मी की ऊष्मा से बचने के लिए ठंड़े पदार्थ खाने व पीने चाहिए।
  • हमें पूरे मौसम में स्वस्थ और तंदरुस्त रहने के लिए बहुत सी सावधानियाँ रखनी चाहिए।
  • हमें गर्मियों की छुट्टियों के दौरान गर्मियों का सामना करने के लिए पहाड़ी क्षेत्रों में जाना चाहिए।
  • हमें शरीर में पानी की कमी और लू लगने (हीट स्ट्रोक) से बचने के लिए बहुत सारा पानी पीना चाहिए।
  • हमें दिन के दौरान, हानिकारक पराबैंगनी किरणों से बचाव के लिए विशेषरुप से, सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक बाहर नहीं जाना चाहिए।
  • हमें गरमी में पक्षियों को बचाने के लिए अपनी बॉलकनी या गलियारे (कौरीडोर) में थोड़ा सा पानी और कुछ चावल या अनाज के दाने रख देने चाहिए।
  • हमें लोगों से विशेषरुप से, वस्तु विक्रेता, डाकिया, आदि से पानी के लिए अवश्य पूछना चाहिए।
  • हमें गर्मियों के मौसम में ठंडक प्रदान करने वाले संसाधनों का प्रयोग करना चाहिए: हालांकि, ग्लोबल वार्मिंग के बुरे प्रभावों को रोकने के लिए बिजली का प्रयोग कम करना चाहिए।
  • हमें बिजली और पानी बर्बाद नहीं करना चाहिए।
  • हमें अपने आस-पास के क्षेत्रों में अधिक पेड़-पौधे लगाने चाहिए और गर्मी को कम करने के लिए उन्हें नियमित रुप से पानी देना चाहिए।

 

गर्मी के मौसम पर निबंध या ग्रीष्म ऋतु पर निबंध 4 (250 शब्द)

ग्रीष्म ऋतु साल की चार ऋतुओं में से एक ऋतु है। साल का सबसे गर्म मौसम होने के बावजूद बच्चे इसे सबसे अधिक पसंद करते हैं, क्योंकि उन्हें बहुत तरीकों से मस्ती करने के लिए गर्मी की छुट्टियाँ मिलती है। ग्रीष्म ऋतु पृथ्वी के घूर्ण अक्ष के सूर्य की ओर होने के कारण होती है। गर्मी का मौसम बहुत ही शुष्क और गर्म (भूमध्य सागरीय क्षेत्रों में) और बरसात का मौसम (पूर्वी एशिया में मानसून के कारण) लाता है। कुछ स्थानों पर, गर्मी के दौरान वसंत ऋतु में तुफान और बवंडर (जो विशेषरुप से सुबह और शाम के समय तेज और गर्म हवाओं के कारण उत्पन्न होता है) बहुत ही आम बात है।

शहरी क्षेत्रों में रहने वाले बहुत से लोग बहुत अधिक गर्मी को नहीं सहन कर पाते हैं, जिसके कारण वे गर्मी की छुट्टियों में अपने बच्चों के साथ समुद्र तटीय रिसोर्ट्स, पहाड़ी क्षेत्रों, तटों, ठंडे स्थानों पर कैम्पों या पिकनिक के लिए जाते हैं। वे तैराकी, गर्मी के मौसमी फलों को खाने और ठंडे पेय पदार्थों को पीने आनंद लेते हैं। कुछ लोगों के लिए, गर्मियों का मौसम अच्छा होता है, क्योंकि वे उन दिनों में ठंडे स्थानों पर मनोरंजन और मस्ती करते हैं; हालांकि, यह मौसम गरमी से राहत पाने वाले संसाधनों की कमी के कारण ,ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए असहनीय होता है। कुछ स्थानों पर, लोग अपने क्षेत्रों में पानी की बहुत अधिक किल्लत या कमी से पीड़ित होते हैं और उन्हें बहुत अधिक दूरी तक पानी को लेकर जाना पड़ता है।

यह पूरा मौसम बच्चों के लिए बहुत अच्छा होता है, क्योंकि उन्हें गर्मियों की छुट्टियों के रुप में अपने घर में परिवार के साथ मस्ती के लिए, किसी ठंड़े स्थान पर घूमने के लिए, तैराकी का आनंद लेने के लिए, मौसमी फलों के साथ आइस-क्रीम का आनंद लेने के लिए एक महीने 15 दिन (डेढ़ महीने) का समय मिलता है। आमतौर पर, लोग सूरज निकलने से पहले टहलने के लिए जाते हैं, क्योंकि यह उन्हें ठंडक, शान्ति और ताजी हवा की खुशी वाली भावना देती है।

ग्रीष्म ऋतु पर निबंध या गर्मी के मौसम पर निबंध 5 (300 शब्द)

भारत में मुख्य रुप से चार मौसम होते हैं: गर्मी का मौसम उसमें से एक है। यह बहुत ही गर्म मौसम होता है, परन्तु लोगों के द्वारा अधिकतर पसंद किया जाता है। यह चार महीनों के लिए होता है (मार्च, अप्रैल, मई और जून), हालांकि, मई और जून सबसे अधिक गर्मी वाले महीने होते हैं। गरमी का मौसम पृथ्वी के सूर्य के चारों ओर घूमने के कारण होता है। इस प्रक्रिया के दौरान, जब पृथ्वी का भाग सूर्य के करीब आता है, तो वह भाग (सूर्य की सीधी किरणों के पड़ने के कारण) गर्म हो जाता है, जो गर्मियों का मौसम लाता है। इस मौसम में, दिन लम्बे होते हैं और रातें छोटी हो जाती है।

यह होली के त्योहार के बाद पड़ता है और बरसात के मौसम की शुरुआत के साथ खत्म होता है। गर्मी के मौसम के दौरान वाष्पीकृत पानी वाष्प के रुप में वातावरण में संग्रहित हो जाता है (जो बादलों का निर्माण करता है) और बरसात के मौसम में बारिश के रुप में गिरता है। गर्मी के मौसम के लाभों के साथ ही कुछ हानियाँ भी है। एक तरफ, जहाँ यह मौसम बच्चों के मनोरंजन और आराम के लिए होता है; वहीं दूसरी ओर, यह लोगों को बहुत सी मुश्किलों और जोखिमों में डालता है; जैसे- उच्च ऊष्मा, तुफान, शरीर में पानी की कमी, कमजोरी, बेचैनी आदि। गर्मियों में मध्याह्न का समय भयंकर गर्मी से भरा हुआ होता है, जिसके कारण बहुत से कमजोर लोग लू लगने के कारण बीमार हो जाते हैं या मर जाते हैं।

भारत में बहुत से स्थानों पर, लोग पानी की कमी और सूखे की स्थितियों से पीड़ित होते हैं, क्योंकि कुए, तालाब और नदियाँ सूख जाती है। पेड़ों का पत्तियाँ पानी की कमी के कारण सूख कर गिर जाती है। चारों तरफ धूल से युक्त गर्म हवाएं चलती है, जो लोगों के स्वास्थ्य के लिए जोखिमपूर्ण होती है। हमें गर्मी के मौसम में गर्मी को कम करने के लिए अधिक फल खाने चाहिए, ठंडी चीजों को पीना चाहिए।


 

ग्रीष्म ऋतु पर निबंध या गर्मी के मौसम पर निबंध 6 (400 शब्द)

परिचय

साल के चारों मौसमों में सबसे गर्म मौसम गरमी का होता है। यह ग्रीष्मकालीन संक्रान्ति के दौरान शुरु होता है, हालांकि इसकी समाप्ति शरद कालीन विषुवत के दिन होती है। दक्षिणी और उत्तरी गोलार्द्ध एक दूसरे की विपरीत दिशा में स्थित है; इसलिए जब दक्षिणी गोलार्द्ध में गरमी होती है, तो उत्तरी गोलार्द्ध में सर्दी होती है।

ग्रीष्म ऋतु के बारे में तथ्य

ग्रीष्म ऋतु के बारे में कुछ मुख्य तथ्य निम्नलिखित है:

  • पृथ्वी अपने घूर्ण काल के दौरान जब सूर्य की ओर झुकती है, तो गर्मी का मौसम आता है (अर्थात् गोलार्द्ध के सूर्य की ओर झुकने पर गर्मी और गोलार्द्ध के सूर्य से दूर होने पर सर्दी होती है)।
  • बच्चे गर्मियों में खुश हो जाते हैं, क्योंकि उन्हें स्कूल से एकसाथ बहुत सारी छुट्टियाँ मिल जाती है।
  • दक्षिणी गोलार्द्ध में दिसम्बर, जनवरी और फरवरी भी गर्मी के मौसम है, हालांकि, उत्तरी गोलार्द्ध में जून, जुलाई और अगस्त महीनों में गर्मी का मौसम होता है।
  • यह वह मौसम है, जिसमें ज्यादातर लोग अपने घरों से दूर पहाड़ी या ठंडे क्षेत्रों में रहते हैं।
  • यह साल के सबसे लम्बे और गर्म दिनों को रखता है।
  • हमें पसंदीदा फल और फसल मिलती है।

ग्रीष्म ऋतु गर्म मौसम क्यों है

यह बहुत अधिक तापमान और शुष्क मौसम होता है, जिसमें हिंसक मानसून भी शामिल रहता है, जो मत्यु दर को बढ़ाने का मुख्य कारण बनता है। इस ऋतु में मौसम उच्च तापमान के कारण अधिक गर्म हो जाता है, जो कुछ क्षेत्रों में पानी की आपूर्ति में कमी की वजह से सूखे का कारण बनता है। गर्म हवाएं और तापमान में वृद्धि, दोनों ही इस ऋतु को बहुत अधिक गर्म बनाती है, जो मनुष्य और जंगली जानवरों दोनों के लिए बहुत अधिक परेशानी का निर्माण करता है।

गरमी के मौसम में बहुत सी (मनुष्य और पशुओं दोनों की) मृत्यु शरीर में पानी की कमी के कारण होती है। बीमारी नियंत्रक और रोकथाम केन्द्र की रिपोर्ट के अनुसार, उच्च ऊष्मीय तरंगे ग्रीष्म ऋतु में गरमी की चरम सीमा का कारण होती है। इसलिए, इस मौसम में सबसे अच्छा अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रहना चाहिए। विज्ञान की राष्ट्रीय खाद्य अकादमी एवं पोषण बोर्ड के अनुसार, महिलाओं को सामान्य रूप से पानी की 2.7 लीटर मात्रा और पुरुषों को गर्मियों में दैनिक आधार पर 3.7 लीटर पानी लेना चाहिए। यद्यपि, जो लोग अधिक शारीरिक व्यायाम में शामिल रहते हैं उन्हें सामान्य से अधिक पानी लेना चाहिए।

एनओएए के राष्ट्रीय जलवायु केंद्र द्वारा दर्ज किए गए आकड़ों के अनुसार, यह दर्ज किया गया कि, साल 2014 में सबसे अधिक गर्मी थी। नासा के अनुसार, गर्मी के मौसम में साल दर साल ग्लोबल वार्मिंग बढ़ती जा रही है। और ऐसा लगता है कि, यह बढ़ता हुआ तापमान बहुत शीघ्र ही इस संसार में सभी स्थानों को गरमी के स्थान जैसा बना देगा।

निष्कर्ष:

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि, मनुष्य भगवान द्वारा निर्मित सबसे बुद्धिमान प्राणी है, हमें हमेशा बढ़ते तापमान पर सोचने के साथ ही सकारात्मक रुप से कार्य करना चाहिए। हमें गर्मी के सभी आरामदायक संसाधनों के द्वारा इस मौसम का आनंद लेना चाहिए हालांकि, हमें सीमा का उल्लंघन नही करना चाहिए। हमें सीमा क्षेत्र में रहकर आनंद लेना चाहिए और हमेशा पानी और बिजली की बचत करनी चाहिए। हमें बिजली और पानी को बर्बाद नहीं करना चाहिए, क्योंकि इस पृथ्वी पर साफ पानी बहुत ही कम प्रतिशत में है और बिजली का अनावश्यक प्रयोग भी ग्लोबल वार्मिंग को बढ़ाता है। चलो! हम सभी मिलकर इसके लिए प्रयास करे।


Previous Story

स्वास्थ्य और तंदरुस्ती पर निबंध

Next Story

वसंत ऋतु पर निबंध

0 thoughts on “Essay On Garmi Da Mausam Secaucus”

    -->

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *